Tag Archives: JP

आपातकाल ने सम्पूर्ण क्रांति आंदोलन को पटरी से उतार दिया 

राम दत्त त्रिपाठी लोक नायक जय प्रकाश नारायण एक ऐसे बिरले क्रांतिकारी थे, जिन्होंने अपने को क्रांति की किसी किताब या विचारधारा में बाँधकर नहीं रखा।वह पूरे जीवन सत्ता से दूर रहकर क्रांति की खोजऔर असली लोकराज  की स्थापना  के लिए सतत लगे रहे। इसीलए वह साम्यवाद से गांधीवाद और …

Read More »

जय प्रकाश नारायण और उनकी छात्र युवा संघर्ष वाहिनी

1974 में जय प्रकाश नारायण ने गुजरात और बिहार में छात्र युवा आंदोलन को नेतृत्व देना स्वीकार किया। बाद में अनेक ग़ैर कांग्रेस विपक्षी दल भी इस आंदोलन में शामिल हुए, जिनको मिलाकर जैन संघर्ष समितियाँ बनीं। लेकिन जे पी ने महसूस किया की विपक्षी दल उनकी विचारधारा तथा सम्पूर्ण …

Read More »