जनहित में “मीडिया स्वराज” के लिए इस तरह लिखिये

जनहित को समर्पित नयी वेब साइटमीडिया स्वराजके लिए प्रकाशन / प्रसारण सामग्री आमंत्रित है.
यह उन सभी लोगों के लिए अवसर है जो समाज की बेहतरी के लिए सोचते हैं , कुछ करते हैं या करना चाहते हैं.

हमें विशेष रूप से सामाजिक, राजनीतिक, इतिहास, स्वतंत्रता आंदोलन, पर्यावरण , स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि , अर्थव्यवस्था, रोज़गार, मनोरंजन , साहित्य आदि विविध विषयों पर सामग्री चाहिए.

आप अपने आसपास की सामाजिक , राजनीतिक, आर्थिक , आध्यात्मिक, साहित्यिक, सांस्कृतिक , खेल कूद  की संक्षिप्त रपट  भेज सकते हैं .

मौलिक कविता , लघु कथा , हास्य व्यंग्य, फ़ोटो , आडियो , वीडियो और पेंटिंग और कार्टून भेज सकते हैं .

रोज़मर्रा की राजनीतिक बयानबाज़ी , शिकवा शिकायत , और आपराधिक घटनाओं पर आधारित सामग्री की आवश्यकता  नहीं है .

इन दिनों अधिकॉंश लोग स्मार्ट फ़ोन पर ही देखते , सुनते और पढ़ते हैं .

भाषा एवं लेखन शैली 

इसलिए सामग्री बहुत संक्षिप्त और  वाक्य छोटे होने चाहिए.

भेजने से पहले ठीक से पढ़कर संशोधित कर लें .  अनावश्यक शब्द , विशेषण आदि हटा दें .

भाषा संतुलित , विधि सम्मत एवं मर्यादित हो. भड़काने वाली हो अपमानजनक .

लेख या रिपोर्ट तीन सौ से पॉंच सौ शब्दों के बीच होनी चाहिए. ज़्यादा बड़ा लिख रहे हैं तो पहले से परामर्श कर लें .

वेबसाइट दुनिया भर में कहीं भी पढ़ी जा सकती है , इसलिए बिलकुल ऐसे लोकल शब्द या मुहावरे इस्तेमाल न करें  जो दूसरी जगह के लोग न समझें .

कृपया यूनिकोड फ़ॉण्ट में टाइप की हुई सामग्री ही भेजें .

हर नया आइडिया नया पैरा में लिखे. दो लाइनों के बीच डबल स्पेस रखें .

आजकल स्मार्ट फ़ोन पर हिंदी लिखना  बहुत आसान है।

लैपटोप या डेस्क्टाप पर GoogleIndic के ज़रिए रोमन में लिखकर हिंदी परिवर्तित कर सकते हैं।बोलकर भी लिख सकते हैं। परिवार में कोई  भी बच्चा आसानी से सिखा देगा।

स्वयं संपादन

बेहतर होगा कि हड़बड़ी में भेजें . लिखने के बाद एक दो दिन के लिए भूल जायें और फिर उसे इस तरह संपादित  करें जैसे किसी और ने लिखा है .

विषय से संबंधित दो तीन फ़ोटो के अलावा अपना प्रोफ़ाइल फ़ोटो भी भेजें . हर फ़ोटो फ़ाइल चार एम बी से कम रहे . वीडियो भी छोटे हों .

मौलिक सामग्री

भेजते समय एक घोषणा भी करें कि यह सामग्री मौलिक है और इस पर किसी का कॉपी राइट नहीं है . यह भी कि तथ्यों को ठीक से जॉंच परख लिया गया है .

जनहित में

सामग्री जनहित में और सामाजिक सद्भाव तथा लोकतंत्र को मज़बूत करने वाली होनी चाहिए .

फ़िलहाल पारिश्रमिक भुगतान करने की व्यवस्था नहीं हैं . आगे जब सक्षम होंगे तो मानदेय देने पर अवश्यविचार करेंगे .

प्रकाशन सामग्री भेजने के लिए –

Email :mediaswaraj2020@gmail.com,

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com