आडवाणी प्रधानमंत्री के लिए सबसे योग्य: उमा भारती

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने लालकृष्ण आडवाणी की जन चेतना यात्रा के दौरान बनारस में इशारों-इशारों में उन्हें प्रधानमंत्री पद के लिए सबसे योग्य नेता बताकर एक बार फिर से भाजपा की अंदरूनी लड़ाई को बाहर ला दिया.

आडवाणी के प्रधानमंत्री पद पर दावेदारी को लेकर भाजपा में हो रही उठा-पटक दबाए नहीं दब रही है.

इस बीच उत्तर प्रदेश में भाजपा ने आडवाणी की यात्रा के बाद दो और यात्राएं शुरू कर दी हैं.

उत्तर प्रदेश विधान सभा के आगामी चुनावों में जन समर्थन जुटाने के लिए भारतीय जनता पार्टी के दो बड़े नेताओं ने राजनाथ सिंह और कलराज मिश्र ने गुरूवार को मथुरा और काशी से स्वाभिमान यात्राएं शुरू की.

इन यात्राओं का समापन अयोध्या में होना है, जिससे अनुमान लगाया जा रहा है कि भाजपा उत्तर प्रदेश में एक बार फिर हिंदुत्व के एजेंडे पर वापस लौट रही है.

राजनाथ सिंह की यात्रा

पूर्व मुख्यमंत्री राजनाथ सिंह सबेरे सबसे पहले मथुरा में कृष्ण जन्म स्थान मंदिर का दर्शन करने गए.

यात्रा पर रवाना होने से पहले राजनाथ सिंह ने मथुरा के जुबली पार्क में एक सभा को संबोधित किया. राजग के संयोजक शरद यादव और लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज इस अवसर पर मौजूद थे.

राजनाथ सिंह ने अपने भाषण में सीधे उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती पर आरोप लगाया कि मायावती ने अपने शासनकाल में उत्तर प्रदेश को रसातल में पहुंचा दिया है.

राजनाथ सिंह ने मायावती को याद दिलाया कि उन्होंने 2007 विधान सभा चुनाव के दौरान गुंडों-बदमाशों के साथ समाजवादी पार्टी नेताओं को भी जेल भेजने का वादा किया था.

राजनाथ सिंह ने आरोप लगाया कि मायावती सच कहने का साहस नही जुटा सकीं क्योंकि वे स्वयं भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरी हैं.

विभिन्न समुदायों के 11 बच्चों ने राजनाथ सिंह की यात्रा को प्रतीकात्मक झंडी दिखाई.

कलराज मिश्र की यात्रा

उधर वाराणसी में भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी पहले विश्वनाथ मंदिर के दर्शन करने गए और फिर भारत माता मंदिर परिसर में एक सभा में कलराज मिश्र को जन स्वाभिमान यात्रा के लिए आशीर्वाद दिया.

आडवाणी ने अपने भाषण में मुख्य रूप से भ्रष्टाचार मुक्त नया भारत बनाने का संकल्प दोहराया. आडवाणी ने उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री मायावती पर सीधे हमला करने से परहेज किया.

कलराज मिश्र और उत्तर प्रदेश भाजपा के दूसरे नेता आडवाणी जी को मिर्जापुर तक विदा करने गए जहां से वह रीवां के रास्ते मध्य प्रदेश में प्रवेश कर गए.

कलराज मिश्र उत्तर प्रदेश के 27 ज़िलों के 154 विधान सभा क्षेत्रों का भ्रमण करेंगे, जबकि राजनाथ सिंह 34 जिलों के 216 विधान सभा क्षेत्रों में जाएँगे. इसके बाद 17 नवंबर को भाजपा अयोध्या में विधान सभा चुनाव में जीत के लिए विजय संकल्प यात्रा आयोजित करेगी.

जानकारों का कहना है कि भाजपा उत्तर प्रदेश के चुनाव में घूम-फिरकर फिर अयोध्या, काशी और मथुरा के एजेंडे पर वापस आ रही है.

source https://www.bbc.com/hindi/mobile/india/2011/10/111013_up_bjp_yatra_adg.shtml

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com